जरूरतमंद बच्चों को जेल में गर्म कपड़े बांटे गए

लुधियाना
ludhiyama

भगवान महावीर सेवा संस्थान द्वारा सुश्रावक स्वर्गीय श्री तरसेम लाल जैन जी की पूण्य समृति में बच्चों को जेल में स्वैटर, मफ्फलर, बर्तन आदि के साथ-साथ हिन्दी, पंजाबी के रोजाना पढ़ने वाले अखबारों को भी लगवाया गया।सी.जी.एम. डॉ. गुरप्रीत कौर की प्रेरणा से आयोजन का लाभ जैन सतीश हौजरी परिवार के सुरेश- रजनी जैन, विनय-जयती जैन, हरियाली जैन, महक जैन ने लिया, कार्यक्रम को संबोधन करते हुए सी.जी.एम. मैडम ने कहा कि जैन परिवार अपने बजुर्गों की पूण्य समृति में बच्चों को सर्दी से बचने के लिए उनको जरूरत का सामान देकर पूण्य का काम कर रहा है, आज ऐसे दानवीर परिवारों एवम् समाज सेवी संस्थाओं के माध्यम से जरूरतमंद लोगों की जो मदद की जा रही है, उसकी अद्भूत पहचान है यह दानवीर परिवार और संस्थान। संस्था के प्रधान राकेश जैन ने बताया कि संस्था २००४ से समाज सेवा के क्षेत्रों में पोलियो ग्रस्त रोगियों के फ्री ऑपरेशन, दिव्यांगो को बनावटी अंग, ट्राई साईकिल, व्हील चेयर, कानों की ऊँचा सुनने वाली मशीन, आँखों के ऑपरेशन, बच्चों की पढ़ाई में मदद, हस्पताल में दाखिल मरीजों की दवाइयों की मदद के साथ-साथ जरूरतमंद परिवारों को राशन आदि की सहायता दी जा रही है, इस मौके पर भगवान महावीर सेवा संस्थान के प्रधान राकेश जैन, उपप्रधान राजेश जैन, रमा जैन, डा. जतिन्द्र कौर, अद्भुत गुप्ता (यू.एस.ऐ.), अवनीत कौर (सुपरीटेंडैंट), अजय बत्ता, राज कुमार, अमन, युगराज, संजय सेतीया आदि गणमान्य उपस्थित थे।

विश्व विख्यांत जैन विद्वान डॉ.भारील्लजी ने पत्रकार एम.सी. जैन को पुस्तकें प्रदान की
chikalthana

चिकलठाणा (महाराष्ट्र): जैन समाज के उच्च कोटी के विद्वान विद्यावारिधी, महामहोपाध्याय, विद्यावाचस्पती, वाणी विभूषण आकर्षक शैली के प्रवचनकार, आध्यात्मिक जगत के सम्राट तथा जैन धर्म एवम् आगम के प्रचार के लिये ३५ बार विदेशों में गये मा. श्री. डॉ. हुकुमचंदजी भारील्ल ने महाराष्ट्र के देवळाली-नासिक दिगम्बर जैन मंदिर में ४ नवम्बर २०१८ को राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक ‘‘जैन गजट’’ के राष्ट्रीय प्रतिनिधी, मराठी-हिंदी लेखक एम. सी. जैन को ‘‘क्रम बद्ध पर्याय’’ ‘‘धर्म के दशलक्षण’’, ‘‘नियम सार’’ अहिंसा पुस्तक भेंट दी, इस अवसर पर सौ. भारील्ल, सौ. हेमालताजी, प्रा. डॉ. राजेश पाटणी, डॉ. प्रीती पाटणी, अविनाश टडैया आदि उपस्थित थे।

जीतो मोटीवेशनल लैक्चर आयोजित करती रहेगी - भूषण जैन
bhusan-jain

लुधियाना: अंतराष्ट्रीय संस्था जैन इन्टरनैशनल ट्रैड ओरगनाईजेशन की लुधियाना ईकाई जीतो लुधियाना चैप्टर, जीतो यूथ विंग एवम महिला इकाई के सामुहिक प्रयास से गुरू नानक देव भवन के मिनी हॉल में ‘कामयाबी की तरफ कैसे हो अग्रसर’ के लिए सर्वप्रथम दीप प्रज्वलन, महामंत्र नवकार के समुहिक उच्चारण के साथ शुरू किया गया, कार्यक्रम के मुख्य वक्ता मुम्बई से पधारे अन्तराष्ट्रीय, keynote sapeekar बसेश गाला (founder & M.D.39 solution group) ने अपने सम्बोधन में बिजनेस को टैंशन फी कैसे किया जाये, कैसे इसकी ग्रौथ बढ़ाई जाये अपनी ग्रौथ के साथ-साथ ओरगनाईजेशन की भी ग्रौथ कैसे बढ़े, जनरेशन गेप को कैसे कम करें, इसी के साथ अपने काम के साथ-साथ मौज मस्ती कैसे हो आदि विषयों के साथ-साथ दान देने पर आपके व्यापार और आपकी मानसिकता पर कैसे असर होता है आदि विषयों पर अपने विचार व्यक्त करने के साथ प्रश्न-उत्तर सत्र में युवाआें ने खासकर भाग लिया और अपने प्रश्नों का संतुष्ट उत्तर पा कर हॉल को तालियों के साथ गुंजायमान कर दिया। चैप्टर चेयरमैन भूषण जैन, महामंत्री राजीव जैन ‘चमन’ एवम् समस्त कार्यकारणी ने बसेश गाला को शाल औढ़ा कर धन्यवाद देते हुए कहा कि आज २३० के करीब उद्योगपतियों ने इस कार्यक्रम में हिस्सा लेकर अपने समय को सार्थक किया और भरपूर जानकारी अर्जित की, आगे भी जीतो ऐसे मोटीवेशनल लैक्चर आयोजित करती रहेगी, इस कार्यक्रम में कोमल कुमार जैन, अमित जैन, कुशल जैन, रमेश जैन, रजनीश जैन, सुधीर जैन, सुरेश जैन, तरूण जैन, राकेश जैन, सुभाष जैन, सोनिया जैन, भाणु जैन, सिरत ओसवाल, निखील जैन, साहिल जैन, रमयक जैन आदि अन्य गणमान्य उपस्थित थे।

राजीव जैन ‘चमन’, जीतो लुधियाना चैप्टर
मोः ९८७६३-२२२८३

संस्थापक अध्यक्ष साँकलचंदजी संघवी द्वारा संघवी ए३ ग्रुप के कॉर्पोरेट कलेंडर-२०१९ का अनावरण
sanghvi-calender
sanghvi-calender02

मुंबई: संघवी ग्रुप की ३५ वर्षों की व्यावसायिक तथा सामाजिक उपलब्धियों पर आधारित संघवी ए३ग्रुप के कैलेंडर – २०१९ का उद्घाटन हाल ही में संघवी ग्रुप के संस्थापक अध्यक्ष साँकलचंदजी संघवी द्वारा किया गया। कैलेंडर में संघवी ग्रुप के सुनहरे ३५ वर्षों की यात्रा को दर्शाया गया है। संस्थापक अध्यक्ष साँकलचंदजी संघवी के प्रबल नेतृत्व में, १९८३ में संघवी ग्रुप ने एयर इंडिया के कर्मचारियों के लिए फ्लैट विकसित करना शुरू किया था, इस यात्रा में उनके साथ उनके चारों पुत्र जुड़ गए और संघवी ग्रुप ने एक ऐसी उड़ान भरी, जिसमें मूल्यों के साथ समझौता किये बिना सफलता के शिखर तक पहुंचे, उन्होंने मुंबई, मुंबई उपनगर, लोनावला, नाशिक में, अफोर्डेबल, लक्ज़री, पुनर्विकास, सेकंड होम्स जैसे विभिन्न क्षेत्रों में ४६ से भी अधिक प्रोजेक्ट्स बनाकर १७००० ग्राहक परिवारों के चेहरों पर मुस्कान दी। इस अवसर पर संघवी ए३ ग्रुप के CMD शैलेश संघवी ने कहा कि ‘हम आज जो हैं, वह श्री साँकलचंदजी संघवी, मेरे तीनों भाई, पृथ्वीराजजी संघवी, रमेशजी संघवी तथा राकेश संघवी, संपूर्ण संघवी परिवार, हमारे ग्राहक, हितधारक, सहयोगी और टीम के सदस्यों के कारण हैं जिनके ३५ वर्षों के सराहनीय साथ के लिए सभी का आभारी हूँ।

You may also like...